Breaking News

मेनका गांधी ने कहा- जहां जितने वोट मिलेंगे, वहां होगा उतना काम होगा

केंद्रीय मंत्री मेनका गांधी ने कहा है कि जहां जितने वोट मिलेंगे वहां पर विकास कार्यों के लिए उसी तरह वर्गीकरण किया जाएगा। उन्होंने कहा कि गांवों का ए, बी, सी और डी के आधार पर वर्गीकरण होगा।

सुलतानपुर
चुनाव आयोग से नोटिस मिलने के बाद भी केंद्रीय मंत्री और सुलतानपुर से उम्मीदवार मेनका गांधी के विवादास्पद बयान बदस्तूर जारी है। सुलतानपुर में एक रैली के दौरान मेनका गांधी ने एक बार फिर चेतावनी भरे लहजे में कहा कि जहां जितने वोट मिलेंगे वहां पर विकास कार्यों के लिए उसी तरह वर्गीकरण किया जाएगा। वहीं मेनका के बयान पर पलटवार करते हुए बीएसपी सुप्रीमो मायावती ने कहा है कि मेनका की खुली धमकी बीजेपी का अहंकार ही नहीं बल्कि इनका घोर जनविरोधी रवैया है, जिसे चुनाव में परास्त करने की जरूरत है।

सुलतानपुर में रैली संबोधित करते हुए मेनका गांधी ने कहा, ‘हम पीलीभीत हर बार जीतते रहे हैं। इसलिए यहां पर मापदंड यह होगा कि हम एक गांव के लिए ज्यादा काम करेंगे और दूसरे के लिए कम। मापदंड यह है कि हम गांवों को ए, बी, सी और डी कैटिगरी में बांटेंगे। उन गांवों में जहां हमें 80 फीसदी वोट मिलेंगे उसे ए कैटिगरी में, जिस गांव में 60 फीसदी वोट मिलेंगे वह बी कैटिगरी में, जिस गांव में 50 फीसदी से कम वोट मिलेंगे उसे सी कैटिगरी और जहां हमें 50 फीसदी से भी कम वोट मिलेंगे उसे डी कैटिगरी में रखेंगे।’

सबसे पहले ए कैटिगरी वाले गांवों में होगा विकास
मेनका ने आगे कहा, ‘सभी विकास कार्य ए कैटिगरी गांवों में पहले कराया जाएगा। जब ए कैटिगरी के गांवों का काम पूरा होगा जब बी कैटिगरी के क्षेत्रों पर काम शुरू होगा और उसके बाद हम सी कैटिगरी के क्षेत्रों का काम शुरू कराएंगे। इसलिए यह आपके ऊपर है कि आप ए, बी या सी में से क्या बनना चाहते हैं और कोई डी कैटिगरी में नहीं चाहिए क्योंकि हम यहां अच्छा करने आए हैं।’

चुनाव आयोग से मिल चुकी है नोटिस

मेनका ने हाल ही में एक और बयान दिया था,’अगर मैं मुसलमानों के बिना समर्थन के जीतती हूं और उसके बाद वे मेरे पास किसी काम के लिए आते हैं तो मेरा रवैया भी वैसा ही होगा। मैं जीत रही हूं, इसमें कोई दो राय नहीं है। लेकिन मेरी जीत मुसलमानों के बिना होगी तो मुझे अच्छा नहीं लगेगा। मैं दोस्ती का हाथ लेकर आई हूं तो आपको भी आगे आना होगा।’ उनके इस बयान पर उन्हें नोटिस भी दी गई थी।

मायावती का पलटवार
बीएसपी सुप्रीमो मायावती ने इस पर ट्वीट करते हुए, ‘केंद्रीय मंत्री मेनका गांधी द्वारा वोटरों को धमकाने के बाद अब यूपी के सीएम द्वारा भी सभा के दौरान काले झंडे/बैनर दिखाए जाने पर जिंदगी भर बेरोजगार रह जाने की खुली धमकी बीजेपी का अहंकार ही नहीं बल्कि इनका घोर जनविरोधी रवैया है, जिसे चुनाव में परास्त करने की जरूरत है।’

About Anoop Kumar Khurana

Anoop Kumar Khurana

Check Also

200 करोड़ खर्च कर खण्डवा प्यासा क्यों..?

मध्यप्रदेश/खण्डवा….(अनूप कुमार खुराना)  पानी को लेकर दुनिया तीसरा विश्व युद्ध जब करें सो करें, खंडवा …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *