Breaking News

दूध को भी तरस रही पाकिस्तान की जनता! दाम हुआ 180 रुपये लीटर

महंगाई से त्रस्त पा‍किस्तान की जनता की परेशानियां बढ़ती जा रही हैं. अब तक सब्जियों, पेट्रोल, डीजल आदि की ऊंची कीमतों की वजह से जनता परेशान थी, अब आसमान छूती कीमतों की वजह से लगता है कि पाकिस्तान की जनता को कायदे से दूध भी मयस्सर नहीं होने वाला.

पाकिस्तान की जनता की परेशानियां खत्म होने का नाम नहीं ले रहीं. महंगाई की वजह से सब्जियों, पेट्रोल, डीजल आदि की ऊंची कीमत को लेकर जनता पहले से ही हलकान थी, अब वहां दूध के दाम बहुत ज्यादा बढ़ जाने से लोगों की परेशानी और बढ़ गई है. कराची डेयरी फार्मर्स एसोसिएशन ने अचानक दूध के दाम में 23 रुपये लीटर तक बढ़त कर दी है और अब दाम 120 रुपये लीटर तक पहुंच चुका है. खुदरा बाजार में दूध 100 से 180 रुपये लीटर तक बिक रहा है.

गौरतलब है कि पाकिस्तानी रुपये का वैल्यू भारतीय रुपये के मुकाबले करीब आधा ही है. महंगाई से पहले से ही त्रस्त पाकिस्तान की जनता इससे काफी गुस्से में है. पाकिस्तानी अखबार डॉन के अनुसार, एसोसिएशन ने कहा कि सरकार से उसने पहले कई बार अनुरोध किया था कि दाम बढ़ाया जाए, लेकिन सरकार की तरफ से कोई प्रतिक्रिया न मिलने पर उसे खुद यह निर्णय लेना पड़ा. एसोसिएशन के एक पदाधिकारी ने कहा कि वे इस मामले में किसी दखल के लिए अधिकारियों से मिले थे, लेकिन उन्होंने कुछ नहीं किया. चारे का दाम कई गुना बढ़ चुका है और ईंधन की कीमतें भी काफी बढ़ गई हैं.

 दूसरी तरफ, प्रशासन ने एसोसिएशन के इस कदम को गलत बताया है और महंगा दूध बेचने वाले खुदरा विक्रेताओं पर कार्रवाई की गई है. प्रशासन ने दूध के दाम 94 रुपये प्रति लीटर तय किया है. इसके बावजूद खुदरा विक्रेता 100 से 180 रुपये लीटर तक के रेट में दूध बेच रहे हैं. प्रशासन ने कहा कि सभी डिप्टी कमिश्नर्स से कहा गया है कि वे महंगे दामों पर दूध बेचने वाले दुकानदारों के खिलाफ सख्त एक्शन लें. एक दुकानदार को इस मामले में गिरफ्तार भी किया गया है.

गौरतलब है कि आर्थिक रूप से खस्ताहाल होते जा रहे पाकिस्तान की बदहाली बढ़ती जा रही है. पाकिस्तान में महंगाई पिछले पांच साल के रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गई है. मार्च महीने में महंगाई 9.4 फीसदी तक पहुंच गई. महंगाई बढ़ने, रुपये में गिरावट और कच्चे तेल की बढ़ती कीमतों से पाकिस्तान के केंद्रीय बैंक ने ब्याज दरें बढ़ाकर 10.75 फीसदी कर दी है.

पाकिस्तान ब्यूरो ऑफ स्टैटिस्ट‍िक्स (PBS) के मुताबिक मार्च 2019 में उपभोक्ता मूल्य सूचकांक आधारित महंगाई बढ़कर 9.4 फीसदी पर पहुंच गई. पीबीएस का कहना है कि इस दौरान वैश्विक स्तर पर कच्चे तेल की बढ़ती कीमतें पाकिस्तान में महंगाई बढ़ने की मुख्य वजह हैं. पिछले तीन महीने में ताजी सब्जियों, फलों और मांस के दाम खासकर शहरों में लगातर बढ़े हैं. जुलाई से मार्च के दौरान औसत महंगाई साल दर साल आधार पर 6.97 फीसदी बढ़ी है.

पाकिस्तान सरकार ने सभी पेट्रोलियम उत्पादों की कीमतों में 6.45 फीसदी की बढ़ोतरी कर दी है. अप्रैल माह के लिए लागू कीमतों के अनुसार पेट्रोल और डीजल की कीमतों में 6 रुपये प्रति लीटर और किरोसीन तथा लाइट डीजल ऑयल (LDO) में 3 रुपये प्रति लीटर की बढ़त की गई है.

About Anoop Kumar Khurana

Anoop Kumar Khurana

Check Also

बस्ते के वजन से सीडियों से गिरी छात्रा, करनी पड़ी रीढ़ की सर्जरी

पश्चिम बंगाल के एक स्‍कूल में 10वीं की एक छात्रा भारी बैग के वजन से …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *