Breaking News

इसनें खण्डवा के कई दिग्गजों सहित गरीबों को ठगा ओर भाग गया,पढिये ये कौन है जिसनें लगाया करोड़ो का चूना…

मध्यप्रदेश/खण्डवा(अनूप कुमार खुराना)

अच्छे अच्छे पढ़े-लिखे लोग कैसे बेवकूफ बन जाते हैं यह आपको इस खबर को पढ़कर एहसास हो जाएगा । कुछ वर्षों पूर्व बाहर से आए एक शख्स ने खंडवा के लोगों को करोड़ों रुपए का चूना लगाया और नौ दो ग्यारह हो गया। आश्चर्य की बात यह है कि खंडवा के बड़े-बड़े दिग्गज इस शख्स की बड़ी-बड़ी बातों में आकर अपना करोड़ों रुपया गवा बैठे । रुपया गवानें वालों में खंडवा के कई गरीब भी शामिल है जिन्होंने कथित बाबा,उर्फ ठग बाबा की बड़ी-बड़ी बातों में आकर अपने मकान तक गिरवी रख उसे पैसा दे दिया । खंडवा के कई दिग्गज इस ठग का शिकार भी हो चुके हैं । आइए आपको बताते हैं इस ठग की पूरी कहानी कौन है यह ठग और कौन-कौन बना इस की ठगी का शिकार..?

आज से लगभग 4 महीने पहले खंडवा के एक प्रसिद्ध नेता का मुझे फोन आया और उन्होंने कहा कि चलो मैं आपको एक बड़े व्यक्ति से मिलवाता हूँ। मेरे उस नेता से व्यक्तिगत रूप से अच्छे संबंध है,जिसके चलते मैं उनके साथ हो लिया । उनकी गाड़ी पर वह मुझे पंधाना रोड स्थित लैंड मार्क वन शोरूम में ले गए। तीसरे फ्लोर पर लिफ्ट से जाने के पश्चात नेता और मैं,एक शानदार ऑफिस में घुसे,जहां हमें खंडवा के कई दिग्गज पहले से वहां मौजूद मिले। जिनमें राजनीतिक,धार्मिक,सामाजिक गतिविधियों में संलिप्त रहने वाले लोग शामिल थे।

ऑफिस खचाखच भरा हुआ था और सामने एक सांवले रंग का सफेद कपड़े पहना हुआ शख्स जो सभी से बड़ी बड़ी बातें कर रहा था। करोड़ों रुपए व केंद्रीय मंत्रियों से कम की बात वह किसी से भी नहीं कर रहा था। ऑफिस में बड़े-बड़े दिग्गजों को देखकर,जब मैंने मेरे साथी मित्र जो मुझे उसके पास लेकर गए थे से पूछा कि भैया यह है कौन ? तो उन्होंने बताया कि इनके माता-पिता महाराष्ट्र हाई कोर्ट में जज थे एवं इनका टैक्सटाइल का बड़ा काम है,इसके अलावा इन्हें कुछ चमत्कारी शक्तियां भी हासिल है जिनके चलते इन की गादी भी लगती है । बहुत ही पावरफुल एवं धनी व्यक्ति है । ऐसा मेरे नेता मित्र ने बताया ।

अब-जब सामने बैठे हुए कथित बड़े व्यक्ति से मेरा परिचय हुआ तो मैंने बताया कि साहब मैं एक पेपर का प्रधान संपादक हूं एवं डिजिटल युग में डिजिटल मीडिया पर ज्यादा काम करता हूं तो उन्होंने तत्काल मुझे करोड़ों रुपए देकर मेरे पेपर को प्रदेश लेवल पर स्थापित करने के लिए कह डाला। पहली बार की मुलाकात में ही सामने बैठे कथित धनी व्यक्ति ने मुझे करोड़ों रुपए का ऑफर दे डाला,जिस पर मेरे मन में तत्काल कई प्रश्न खड़े हो गए ।रात दिन क्राइम कवर करने के दौरान मैं अपने पत्रकारिता के करियर में कई बड़े-बड़े ठगों को और उनके ठगी के तरीकों को बड़े नजदीक से देख चुका हूं,उसी दिन से मेरी पड़ताल उस कथित धनी व्यक्ति पर शुरू हो गई ।

उस कथित धनी व्यक्ति उर्फ कथित बाबा उर्फ कथित बड़े नेता का रिश्तेदार की पड़ताल करनें पर पता लगा कि वह कुछ वर्ष पूर्व ही खण्डवा आया है,वह लोगों को बताता था कि वह महाराष्ट्र हाईकोर्ट के जज का बेटा है व उनका टैक्सटाईल्स का बड़ा कारोबार है के अलावा उसका व्यापार लम्बा चौड़ा है ।इतना ही नहीं वह खुद को दादा जी का कथित चमत्कारिक भक्त बताता था ओर गादी पर बैठता था। उसके आसपास रहने वाले लोगों ने बताया कि उसके पास खंडवा सहित महाराष्ट्र के लोग भी अपनी समस्याएं लेकर आते थे । एंटी करप्शन की टीम की पड़ताल में पता लगा कि यह कथित जज का बेटा,धनी व्यक्ति कहां से आया है ? इसकी पुख्ता जानकारी किसी के पास नहीं है । एंटी करप्शन की टीम की पड़ताल जैसे जैसे तेज होगी गई,इसके संबंध में हमें इसके फर्जीवाड़े की रमज लगती चली गई । इसके नजदीक रहने वाले लोगों से हमें पता लगा कि इसने अपने कथित बड़े व्यापार के नाम से खंडवा के लोगों से करोड़ो रुपए इन्वेस्टमेंट के नाम पर लिए हुए हैं।एक-एक करके जैसे- जैसे हमने जानकारी लगने पर रुपया लिए लोगों से बात शुरू की और कथित धनी व्यक्ति,जज का बेटा,कथित चमत्कारी बाबा के संबंध में फर्जीवाड़ा होने की शंका जाहिर की,तो उस शख्स को रुपया दिए हुए लोगों ने उसे रुपया वापस मांगना शुरू किया । जैसे ही लोगों ने उससे रुपया मांगना शुरू किया वैसे-वैसे उस कथित धनी व्यक्ति की पोल खुलनी शुरू हो गई । वह रुपया देने में आनाकानी करने लगा एवं लोगों को बेवकूफ बनाने लगा । लोगों के बढ़ते दबाव के चलते आखिरकार वह खंडवा छोड़कर भाग गया । अनुमान के अनुसार खण्डवा के लोगों का लगभग 20 करोड़ से अधिक रुपया लेकर भाग गया । लगभग 1.5 करोड़ रुपया तो अकेले एक समाज के अध्यक्ष एवं उनसे जुड़े लोगों का ही बताये जा रहें हैं ।के अलावा एक सिख फैमिली के घर को बैंक में गिरवी रखना उससे मिला रुपया जो मिली जानकारी के अनुसार लगभग 35 से 50 लाख रुपए सहित इस तरह की राशि खंडवा के सैकड़ों लोगों कि लेकर खंडवा से रफूचक्कर हो गया। इसके शिकार अकेले खंडवा ही नहीं आसपास के जिले के लोग भी हैं।

आपको जानकर आश्चर्य होगा कि उसने अपनी ठगी का शिकार बड़े-बड़े दिग्गजों के अलावा कई अधिकारियों को भी बनाया है ।यह कथित जज का बेटा,खुद की पहचान देश के बड़े-बड़े नेताओं सहित अधिकारियों से होना बताता था । इसकी बड़ी-बड़ी बातों के झांसे में आकर कई अधिकारियों ने ट्रांसफर एवं इन्वेस्टमेंट के नाम पर इसे करोड़ों रुपए सौंप दिए ।

एंटी करप्शन की टीम को मिली जानकारी के अनुसार भागने से कुछ दिन पहले,इसकी ठगी का शिकार हुए लोगों द्वारा जब इसे घेरकर रुपया देने के लिए दबाव बनाया तो उसनें कई लोगों को कुछ कैश रुपया देने के अलावा ज्यादातर लोगों को चेक दे दिया लेकिन ज्यादातर चेक बाउंस हो गए।

परंतु इस दौरान उस शख्स नें खंडवा के दूसरे लोगों को चूना लगाकर दबाव बना रहे लोगों को थोड़ा-थोड़ा रुपया देकर अपना बोरिया बिस्तर समेटने तक का टाइम मैनेज कर भागने में सफलता हासिल कर ली।

संजय पालीवाल,उर्फ बाबा,उर्फ सेठ,उर्फ नेता उर्फ महाठग 

इतनी बड़ी खबर पढ़ कर आप निश्चित ही इस शख्स के बारे में जानना चाह रहे होंगे तो आइए आपको बताते हैं इस शख्स का नाम है संजय पालीवाल ?यह प्रश्नवाचक चिन्ह इसलिए कि इसका यह असल नाम है या खंडवा में आने से पहले इसका यह बनाया गया नाम है,यह तो भगवान ही जाने ? पर खंडवा के पदम नगर थानें में इसकी शिकायत की जा चुकी है परंतु अभी तक पालीवाल पर प्रकरण पंजीबद्ध नहीं हो पाया है।इतना ही नहीं लोक-लाज के चलते ज्यादातर ठगी का शिकार हुए लोग सामने निकल कर नहीं आ रहे हैं ।जबकि निकल कर आना चाहिये ताकि एसे ठगों के हौंसले बुलंद ना हों पायें ।

बड़ी-बड़ी बातों के चुंगल में आकर खंडवा के बड़े-बड़े दिग्गजों सहित उन पर विश्वास करने वाले गरीब लोग भी कथित संजय पालीवाल के झांसे में आकर लुट बैठे । हो सकता है कि यह महाठग व्यक्ति अब दूसरे किसी राज्य अथवा जिले में जाकर ऐसी ही बड़ी-बड़ी बातें कर अपने अगले शिकार बनाना शुरू कर चुका हो ।हो सकता है कि उसनें खंडवा में पालीवाल सरनेम लगाकर लोगों को ठगी का शिकार बनाया । अब पता नहीं कौन सा सरनेम लगा कर कहां लोगों को चूना लगा रहा होगा ? ऐसे लोगों से बचकर रहें एवं आंख बंद कर किसी की भी बात पर विश्वास ना करें अन्यथा खंडवा में ठगी का शिकार हुए लोगों की तरह आपका भी सब कुछ लूट सकता है ।

About Anoop Kumar Khurana

Anoop Kumar Khurana

Check Also

‘कुली नंबर वन’ और ‘हीरो नंबर वन’ तो देखि होगी पर अब नई फ़िल्म आ रही है ‘फेकू नंबर वन’- सिद्धू

सिद्धू (Navjot Singh Sidhu) ने तंज किया, “मैंने हीरो नम्बर वन, कुली नम्बर वन और …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *