Breaking News

प्रेम प्रसंग में 13 साल पहले किया था मर्डर, अब साथियों समेत गिरफ्तार

राजधानी में 2006 के दौरान भूपेंद्र नामक एक शख्स का मर्डर हुआ था. पुलिस कई दिनों तक कातिलों की तलाश करती रही, लेकिन कातिल पुलिस के हाथ नहीं लग पाए थे

दिल्ली पुलिस ने एक ऐसे कातिल को गिरफ्तार किया है, जिसने 13 साल पहले कत्ल की एक वारदात को अंजाम दिया था. लेकिन पुलिस उसे पकड़ने में नाकाम रही थी. अब जाकर वो पुलिस के हत्थे चढ़ा है. आरोपी की पहचान महेश के रूप में हुई है. जो मृतक की चचेरी बहन से प्यार करता था. इसी बात को लेकर उसने लड़की के भाई की हत्या कर दी थी. तभी से पुलिस उसे तलाश रही थी.

साल 2006 की बात है. दिल्ली में भूपेंद्र नाम के एक शख्स का मर्डर हुआ था. पुलिस कई दिनों तक कातिलों की तलाश करती रही लेकिन कातिल पुलिस के हाथ नहीं लगे. साल दर साल बीतते गए. मगर अचानक दिल्ली पुलिस ने भूपेंद्र के कातिल को गिरफ्तार कर मामले का खुलासा कर दिया. पुलिस ने आरोपी महेश के साथ उसके तीन दोस्तों को भी गिरफ्तार किया है.

पुलिस के मुताबिक मृतक भूपेंद्र, महेश की चचेरी बहन से प्यार करता था. ये बात महेश को पसंद नहीं थी. कई बार भूपेंद्र और महेश के बीच इस बात को लेकर झगड़ा भी हुआ था. बाद में महेश ने अपने दोस्तों के साथ मिल कर भूपेंद्र की हत्या कर दी थी. इस हत्याकांड में महेश के साथी सुरेंद्र, विजय और दीपक भी उसके साथ थे.

पुलिस के मुताबिक इन आरोपियों ने 2016 में भी अपहरण की एक वारदात को अंजाम दिया था. इन शातिर बदमाशों ने दिल्ली के शालीमार बाग इलाके से एक बड़े व्यापारी के बेटे को बीएमडब्ल्यू कार से अगवा कर लिया था. जिसकी एवज में इन बदमाशों ने 50 करोड़ रुपये की फिरौती मांगी थी. लेकिन बाद में बात दो करोड़ रुपये में तय हो गई थी.

व्यापारी ने एक करोड़ रुपये बदमाशों को दे भी दिए थे. बाकी पैसे बाद में किश्तों में देना तय हो गया था. लेकिन इसके बाद पुलिस ने अगवा लड़के को गुरुग्राम से छुड़ा लिया था. इस संबंध में पुलिस ने इनमें से दो बदमाशों को पकड़ भी लिया था, लेकिन एक बार पेरोल पर बाहर आने के बाद दोनों वापस नहीं लौटे और गायब हो गए. तभी से पुलिस इनकी तलाश में जुटी थी.

इस बीच क्राइम ब्रांच के एक सिपाही को ख़बर मिली की महेश अपने साथियों के साथ पानीपत के एक गांव में छिपा हुआ है. इसके बाद पुलिस ने वहां रेड कर दी. पुलिस को देखकर महेश भागने के चक्कर में पहली मंजिल से कूद गया और घायल हो गया. पुलिस ने मौके से ही चारों बदमाशों महेश, दीपक, सुरेंद्र और विजय को गिरफ्तार कर लिया. पुलिस ने इनके पास से एक कार, पिस्टल और कारतूस भी बरामद किए हैं.

About Anoop Kumar Khurana

Anoop Kumar Khurana

Check Also

हर ग्राहक को खंडवा उपभोक्ता फोर्म का ये फैसला पढना चाहिये..

खण्डवा-माताचौक खंडवा निवासी हिमांशु पिता राधेश्याम गुप्ता ने अपनी आजीविका हेतु एक बस क्रमांक एमपी …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *