Breaking News

ईडी के प्रश्नों से सोनिया गाँधी के दामाद राबर्ट वाड्रा के छुटे पसीनें?कई प्रश्नों पर नहीं दे पाये जवाब….

मनी लांड्रिंग से जुड़े एक मामले में रॉबर्ट वाड्रा बुधवार को प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के सामने पेश हुए। उन्हें छोड़ने प्रियंका गांधी गईं। हालांकि वह पति को ईडी दफ्तर के गेट तक छोड़कर कांग्रेस मुख्यालय पहुंचीं, जहां उन्होंने महासचिव का पदभार संभाला। करीब पांच घंटे से ज्यादा चली पूछताछ में वाड्रा ने लंदन में कोई भी संपत्ति होने से इनकार किया।
ईडी ने वाड्रा को कई ई-मेल दिखाए, लेकिन उन्होंने कहा कि उनका भगोड़े हथियार व्यापारी संजय भंडारी और उसके चचेरे भाई शिखर चड्ढा से कोई व्यापारिक संबंध नहीं है। हालांकि वाड्रा ने यह माना कि मनोज अरोड़ा उनका कर्मचारी था। ईडी ने वाड्रा को पूछताछ के लिए बूहस्पतिवार को सुबह 10:30 बजे फिर बुलाया है।

लंदन के 12, ब्रायनस्टन स्क्वायर स्थित संपत्ति में धन शोधन के आरोप पर तलब किए गए वाड्रा अपराह्न 3:47 बजे जामनगर हाऊस स्थित ईडी दफ्तर पहुंचे और रात 9:40 बजे वहां से निकले। यह पहला मौका है जब वह किसी जांच एजेंसी के समक्ष पेश हुए हैं। वाड्रा से पहले उनके चार वकील पहुंच गए थे, हालांकि पूछताछ का सामना उन्हें अकेले करना पड़ा।

माना जा रहा है कि वकीलों की सलाह पर वाड्रा ने उन्हीं सवालों के जवाब दिए, जो हाल ही में दिल्ली की एक अदालत में ईडी द्वारा तब स्पष्ट किए गए जब वाड्रा गिरफ्तारी से छूट पाने के लिए अदालत पहुंचे थे।
इस बीच, प्रियंका ने जहां पति को ईडी दफ्तर तक छोड़कर सियासी संदेश देने की कोशिश की है। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने बुधवार को कहा कि ‘वाड्रा मेरे पति और परिवार हैं तथा मैं अपने परिवार के साथ हूं।’’ महासचिव नियुक्त होने के बाद पहली बार कांग्रेस मुख्यालय पहुंची प्रियंका ने संवाददाताओं के सवाल के जवाब में कहा, ‘वह (वाड्रा) मेरे पति हैं, मेरा परिवार हैं। मैं अपने परिवार के साथ हूं।’

वहीं, भाजपा ने वाड्रा के बहाने कांग्रेस पर तीखा हमला किया है। हाल ही में वाड्रा को इस मामले में अदालत से 16 फरवरी तक गिरफ्तारी से छूट मिली थी माना जा रहा है कि वे फिर अदालत का दरवाजा खटखटा सकते हैं।

सभी सवालों के जवाब दिए

ईडी : क्या आप संजय भंडारी, शिखर चड्ढा और मनोज अरोड़ा को जानते हैं?
वाड्रा : मैं केवल मनोज अरोड़ा को जानता हूं। वो मेरी कंपनी स्काइलाइट हॉस्पिटैलिटी एलएलपी के पूर्व कर्मचारी थे। संजय भंडारी और शिखर चड्ढा से मेरा कोई व्यापारिक संबंध नहीं है।

ईडी : लंदन में आपकी कितनी संपत्तियां हैं?
वाड्रा : लंदन में मेरी किसी तरह की कोई संपत्ति नहीं है। मैंने वहां अब तक कोई संपत्ति नहीं खरीदी। ऐसे में मालिकाना हक का सवाल ही नहीं उठता है।

ईडी : क्या लंदन में ऐसी कोई संपत्ति है जो आपके स्वामित्व की नहीं लेकिन उस पर आपने पैसा लगाया हो?
वाड्रा : प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष तौर पर मेरी कोई भी संपत्ति लंदन में नहीं है।

ईडी : इसके अलावा क्या यूरोप में आपकी कोई संपत्ति है?
वाड्रा ने इस प्रश्न का कोई जवाब नहीं दिया।

ईडी : क्या आप पीसी थंपी को जानते हैं, जो लंदन में 12 ब्रायनस्टन स्कावयर स्थित संपत्ति के मालिक थे। इस संपत्ति के संबंध में आपके पास ई-मेल आया जिस पर आपने उसके पुनर्निर्माण को मंजूरी दी।
वाड्रा : मेरे पास ऐसा कोई मेल नहीं आया। (हालांकि ईडी ने उन्हें कुछ ई-मेल दिखाए।)

ईडी : अगर आप सुमित चड्ढा को नहीं जानते तो वह आपसे किस लेनदेन के बारे में पूछ रहा था? मेल में ‘अरोड़ा देख लेगा’ का जिक्र था।
वाड्रा : मैं ऐसे किसी मेल के बारे में नहीं जानता। ऐसा कोई मेल नहीं आया।

About Anoop Kumar Khurana

Anoop Kumar Khurana

Check Also

BSP की जगह गलती से दब गया BJP का बटन, पछतावे में आकर काट ली ऊँगली

वोट डालते वक्त उसे चुनाव चिह्न हाथी का बटन दबाना था, लेकिन उसने गलती से …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *