Breaking News

सेक्स वीडियो वह फोटो को लेकर ब्लैकमेल कर रहे थे केके अग्रवाल,परेशान हो गई थी बेटी की उम्र की गर्लफ्रैंड इसीलिये मरवादी दुसरे बायफ्रैंड से गोली….?

हरसूद खंडवा रोड पर खेड़ी व रजूर के बीच,बुरहानपुर में अजाक थाने में पदस्थ केके अग्रवाल जो सब इंस्पेक्टर के तौर पर अपनी सेवाएं दे रहे थे,हरसूद से अपने बेटे की शादी के कार्ड बांट कर लौटते समय अज्ञात बाइक सवारों ने उनको गोली मार दी थी,जिसके बाद पीछे से कार में आ रहे दो जागरूक युवकों ने तत्काल गोली कांड में घायल के. के.अग्रवाल को जिला अस्पताल पहुंचाने सहित खंडवा पुलिस को सूचित किया।

गोलीकांड केे खुलासे की विडियो खबर भी देख सकते हैं..

 

पुलिस सब इंस्पेक्टर को गोली लगने की घटना से शहर में सनसनी व पुलिस विभाग में हड़कंप मच गया। के.के.अग्रवाल खंडवा में एटीएस में भी काम कर चुके हैं एवं उनकी सक्रियता के चलते सिमी के टारगेट पर भी रहे हैं। बुधवारा बाजार में 10 साल पहले भी उन पर सिमी के आरोपी आतंकियों ने गोली चलाई थी जिसमें वह बाल-बाल बच गए थे । उस घटना को केके अग्रवाल नें छुपा लिया था व प्रकरण दर्ज नहीं कराया था।हरसूद रोड पर के के अग्रवाल पर फायरिंग की घटना को शुरुआती तौर पर सिमी से जोड़कर देखा जा रहा था। जिसके चलते के के अग्रवाल पर फायरिंग की घटना आतंकी घटना की ओर इशारा करने लगी थी इस घटना के पश्चात दिल्ली से लेकर भोपाल तक हड़कंप मच गया था। देश की सुरक्षा एजेंसियां इस मामले को लेकर तत्काल हरकत में आ गई थी। दिल्ली तक से बड़े अधिकारियों के फोन खंडवा पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों को आने लगे थे ?

घटना की जानकारी लगते ही खंडवा एसपी सिद्धार्थ बहुगुणा,एडिशनल एसपी महेंद्र तारनेकर सहित अन्य एजेंसियों के लोग जिला अस्पताल में पहुंचे एवं के के अग्रवाल से घटना के संबंध में विस्तृत चर्चा करने के पश्चात खंडवा एसपी सिद्धार्थ बहुगुणा ने एडिशनल एसपी को घटना के संबंध में निर्देशन देते हुए सभी पहलुओं पर काम करने के पश्चात आरोपियों को पकड़ने के निर्देश दिये व आरोपियों को पकड़ने के लिए कई टीम बनाकर जिलेभर में नाकेबंदी करनें के निर्देश दिये। इसके अलावा आसपास के जिलों को भी अलर्ट कर दिया गया था।

के.के.अग्रवाल से मिली जानकारी के आधार पर शुरुआती तौर पर हरसूद के सोनपुर गांव से कुछ संदिग्धों जिसमें महिला भी शामिल थी को अभिरक्षा में लेकर उनसे पूछताछ की गई। इसके अलावा कई अन्य टीम अलग अलग दिशा में काम करने के लिए लगाई गई।

महिला पर किसी बात को लेकर दबाव बना रहे थे केके अग्रवाल….?

हरसूद के सोनपुर गांव से उठाए गए ओमनारायण सहित केके अग्रवाल की महिला दोस्त शांति वर्मा से पुलिस स्टाइल में पूछताछ करने पर उन्होंने अपना गुनाह कबूल करते हुए के.के अग्रवाल पर गोली चलाने की बात कही।केके अग्रवाल के एक महिला दोस्त से चल रहे संबंध के बाद उपजे विवाद के चलते संदेही आरोपी महिला ने अपनें सोनपुर के दोस्त,जिसे वह अपना मुंह बोला भाई बताती थी से गोली मरवानें की बात कबूल कर ली। सूत्रों की मानें तो के.के अग्रवाल की महिला दोस्त शांति वर्मा को के.के अग्रवाल किसी बात को लेकर दबाव बना रहे थे। जिसको लेकर केके अग्रवाल की महिला दोस्त शांति वर्मा मन ही मन घुट रही थी । अत्यधिक दबाव बढ़ने पर शांति वर्मा ने के के अग्रवाल को अपने एक अन्य मित्र जो हरसूद के सोनपुर गांव का रहने वाला था जिसका नाम ओम नारायण बताया जा रहा है के साथ मिलकर निपटाने का प्लान बना लिया था । शांति वर्मा ने घटना दिनांक से कुछ महीने पहले इसकी प्लानिंग भी कर ली थी, बस मौके की इंतजार में थी।

आरोपी शांति वर्मा

एसे दिया वारदात को अंजाम…. 

घटना दिनांक को के.के अग्रवाल सुबह हरसूद पहुंच गए। हरसूद के सेक्टर नंबर 7 में यादव के मकान में के के अग्रवाल ने एक कमरा किराए से ले रखा था जहां पर अक्सर वह अपनी महिला दोस्त को ले जाया करते थे । घटना दिनांक को के.के अग्रवाल ने मयूर ढाबे से 2 लोगों का खाना पैक कराया एवं हरसूद में किराए के लिए कमरे में अपनी महिला दोस्त को ले जा जाकर कुछ देर बितायेे के पश्चात उसे एक दुकान से किराने का सामान भी दिलवाया और किराना दुकान वाले को महिला को कहीं छोड़ने के लिए कहा ? के.के अग्रवाल ने महिला को कहा कि मैं हरदा जा रहा हूं शादी के कार्ड बांटने? मिली जानकारी के अनुसार के के अग्रवाल को महिला पर शक हो गया था,जिसके चलते उन्होंने महिला को गलत जानकारी दी परंतु केके अग्रवाल की महिला दोस्त शांति वर्मा को केके अग्रवाल की नब्ज़ पता थी और उसने अपने अन्य मित्र ओम नारायण को के.के अग्रवाल के हरसूद में आने के बारे में बता दिया था ।

आरोपी ओमनारायण…..

पूर्व प्लानिंग के तहत शांति वर्मा का साथी ओमनारायण अपने मामा के बेटे के साथ पहले ही हरसूद रोड पर आकर खड़ा हो गया। के के अग्रवाल के वहां से गुजरने के पश्चात ओम नारायण नें अपनें मामा के बेटे राजकुमार जो मुगल गाँव का रहनें वाला था उसको साथ लेकर के.के अग्रवाल का पीछा करना शुरू कर दिया। रजुर से पहले उन्होंने दूर से के.के. अग्रवाल को दूर से गोली मारी परंतु वह गोली के के अग्रवाल को नहीं लगी।उसके पश्चात ओम नारायण ने के.के अग्रवाल की गाड़ी के पास आकर के.के अग्रवाल को दूसरा फायर कर घायल कर दिया,जिसके पश्चात मौके से भौंगावा रूट से होते हुए वापिस हरसूद के अपने गांव पहुंच गए।इस दौरान रास्ते में उन्होंने हरसूद रोड पर अपनी बंदूक झाड़ में फैंक दी के अलावा मुगल गांव में अपने मामा को भी बेटे को छोड़ दिया । शांति वर्मा को फोन कर केके अग्रवाल का काम तमाम करने की बात भी बताई । पुलिस ने हत्या के प्रयास में प्रयुक्त होने वाली बंदूक मोटरसाइकिल सहित आरोपियों को धर दबोचा है एवं

मुगल गाँव का दुसरा आरोपी राजकुमार …

खंडवा पुलिस नें शांति वर्मा पति राजकुमार निवासी सोनपुरा, राजकुमार पिता राजेंद्र, मुख्य आरोपी ओमनारायण पिता अशोक निवासी सोनपुरा, हथियार बेचने वाला सगीउद्दीन वल्द नवाबुद्दीन निवासी वार्ड नंबर 12 छनेरा सहित ओम नारायण मामा के लड़के जो मुगल गाँव में रहता है को  है।

 

इस मामले का खुलासा करने में खंडवा सीएसपी प्रशांत सी एसपी प्रशांत मुकदम, हरसूद टीआई जयपाल इन वाती मोघट थाना प्रभारी मोहन सिंह सिंगोरे ,सीता राम भारती,संतोष श्रीवास्तव,अरुण पाटिल,निर्मिती इंगले, अशोक,श्याम बिहारी मिश्रा,अवधेश मीणा,ब्रह्मानंद राजेश ठाकरे,सुनील,जितेंद्र कनाडे,जितेंद्र आरसी पाकीजा,कुंदन मंडलोई नें खण्डवा एसपी सिद्धार्थ बहुगुणा के मार्गदर्शन में खंडवा एडिशनल एसपी महेंद्र तारनेकर के निर्देशन में सराहनीय कार्य किया,जिसके लिए खंडवा एसपी ने ₹10000 इनाम देने की घोषणा की है ।

About Anoop Kumar Khurana

Anoop Kumar Khurana

Check Also

बस्ते के वजन से सीडियों से गिरी छात्रा, करनी पड़ी रीढ़ की सर्जरी

पश्चिम बंगाल के एक स्‍कूल में 10वीं की एक छात्रा भारी बैग के वजन से …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *